Ayurvedic use Fig (Anjeer)

Channel: Acharya Balkrishna

66,421

TIP: Right-click and select "Save link as.." to download video

Initializing link download... Initializing link download.....

पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी ने इस विडियो में अंजीर के बारे में बताये हैं
जिनको शारीरिक दुर्बलता व यौन दुर्बलता हैं वे अंजीर का प्रयोग बहुत ही लाभकारी हैं रात को 3-4 अंजीर दूध में उबाल कर कुछ दिनों तक सेवन करने से शरीर पुष्ट होगा यौन शक्ति में वृद्धि होगी व स्नायु दुर्बलता खत्म होगी निम्न रक्तचाप व हृदय रोगियों को भी दूध के साथ अंजीर लेने से बहुत लाभ होगा और शरीर पुष्ट होगा यौन शक्ति में वृद्धि होगी व स्नायु दुर्बलता खत्म होगी निम्न रक्तचाप व हृदय रोगियों को भी दूध के साथ अंजीर लेने से बहुत लाभ मिलेगा खांसी में अंजीर का प्रयोग खांसी होने पर अंजीर का काढ़ा बनाकर प्रयोग करे लाभ होगा एक सुखा अंजीर थोड़ी सी मुलेठी व 3-4 पत्ते तुलसी के इन सभी को पानी में उबाले और एक चौथाई शेष रहने पर छान ले गर्म पेय से इसका प्रयोग प्रयोग करने से खांसी से मुक्ति मिलेगी रोग एवं रोगी की उम्र के हिसाब से मात्रा का निर्धारण करे यकृत संबंधी विकारो में सर्वकल्प क्वाथ बहुत ही लाभकारी हैं इसके साथ अंजीर मिलाने से यह और भी प्रभावी और स्वादिष्ट हो जाता हैं 10 ग्राम सर्वकल्प क्वाथ में 2-3 ताजे या सूखे अंजीर मिलाकर 400 ग्राम पानी में पकाये एक चौथाई शेष रहने पर इसे मसलकर छान ले इसका सेवन करने से यकृत से सम्बन्धित सभी बीमारियों से लाभ मिलेगा और यदि पीलिया की शिकायत हैं तो वह भी जल्दी ठीक होगा

Visit Us

http://www.divyayoga.com/
https://www.facebook.com/AcharyaBalkrishanJi
Follow us on Twitter
Click:https://twitter.com/Ach_Balkrishna