राम निवास राव के चुटकले |Jokes By Ramnivas Rao|Rajasthani Comedy

Channel: WeRajasthani

270,396

TIP: Right-click and select "Save link as.." to download video

Initializing link download... Initializing link download.....

Click Here To Subscribe Punjabi video -http://goo.gl/ga53ON
Click Here to Subscribe Rajasthani Video-http://goo.gl/9nXnmt रामनिवास राव राजस्थान भजन सम्राट थे। उन्होंने हजारों गायकों में एक अलग ही मुकाम स्थापित किया था। राव का जन्म 15 अगस्त 1958 को हुआ। वे गजल सम्राट जगजीतसिंह के शिष्य थे जिनसे उन्होंने गायकी की बारीकियां सीखीं। साथ ही भोपाल और सीकर घराने से भी ताल्लुक रखते थे। राव राग वृंदावनी, राग भोपाली, राग यमन के साथ ही मल्हार के भी अच्छे सुधि गायक थे। लोक कथाओं और गाथाओं को गाने के लिए उन्होंने अपना एक अलग ही अंदाज विकसित किया। उनकी गिनती राजस्थान के सुप्रसिद्ध लोक गायकों में होने लगी। वर्ष 1978 में एचएमवी द्वारा प्रथम रिकॉर्डेड एलपी आॅडियो नानी बाई रो मायरो से लेकर विभिन्न कम्पनियों ने अब तक राव के लगभग 800 आॅडियो व वीडियो एलबम रीलीज कर चुकी है। जिनमें राज भरथरी, राजा मोरध्वज, राजा हरीशचंद्र, बाला चुंदडी, कृष्ण मनिहारा, सावन आयो आयो नन्दलाल, कान्हा मार गई तेरी तिरछी नजर, लखनवा नहीं जाना, मारा हरि निर्मोही, के साथ ही हैली आदि को अपनी आवाज से रामनिवास राव ने अमर बना दिया।